success story, motivation for student study,story

वह करो जो आप करना चाहते हो- Success story

आज सारे घर में में ख़ुशी का माहौल था, पिंकी और रमेश भी बेहद खुश थे ,और खुश भी क्यों ना, आखिर कई सालो साल बाद उनका बेटा जो घर पर पैदा हुआ था। कुछ दिनों बाद सब लोगो ने मिलकर उसका नाम लक्ष्य रख दिया गया। पिंकी और रमेश के अपने बच्चे को लेकर कई सपने हैं, दोनों ने पहले ही सोच लिया है कि वे अपने बेटे को इंजीनियर बनाएंगे।
जैसे ही लक्ष्य 4 साल का हुआ, उसका एडमिशन शहर के एक अच्छे स्कूल में कराया गया। लक्ष्य बचपन से ही बहुत अच्छी पेंटिंग बनता था है। किसी को विश्वास नहीं हो रहा है कि 4 साल के बच्चे ने ये पेंटिंग बनाई हैं।

लक्ष्य पढ़ने में भी बहुत अच्छा था । कक्षा में हमेशा प्रथम हुआ करता था 10 पास करने के बाद कक्षा 11 में उन्हें विषयों का चयन करना था जिसमे वह आर्ट लेना चाहता था लेकिन अपने परेंट्स की वजह से उसे मैथ लेना पड़ा. वह मैथ नहीं पढ़ना चाहता था ।लेकिन उनके माता-पिता चाहते थे कि वे एक इंजीनियर बनें, लेकिन वह एक चित्रकार बनना चाहते थे। लक्ष्या ने अपने माता-पिता से भी बात की, कि वह इंजीनियर नहीं नहीं बनना चाहता । लेकिन उसके माता-पिता ने साफ कहा कि वे उसे पेंटिंग में अपना भविष्य खराब नहीं करने देंगे। पढ़ाई में लक्ष्य का प्रदर्शन पहले ही बिगड़ चुका था और 12 वीं कक्षा की पढाई पूरी करने के बाद, लक्ष्य ने इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लिया। अधिक पढ़ाई पूरी करने के बाद, लक्ष्य ने जॉब करना सुरु कर दिया लेकिन आज भी उसके मन में यही था की अगर वह पेंटिंग करता तो वह कितना खुश होता और सायद कुछ अच्छा कर पता। लेकिन कहीं न कहीं उनके दिमाग में अपने मुख्य लक्ष्य को चित्रित करना सिर्फ एक सपना बनकर रह गया। इसी लिए आप वो करे जिसमे आप एक्सपर्ट है जिस काम को करने में आप बोर नहीं होते फुल स्ट्रेंथ के साथ वर्क कर सकते है , आप वो करे गे तो आप को सफलता जल्दी और आसानी से मिल सकती है. अगर ये स्टोरी आप को अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालो के साथ जरूर शेयर करे।

About the author

Just Finds

View all posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *