How to Crack NEET in First Attempt 2020

यदि आप डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं, तो आपको 11 वीं कक्षा से ही NEET की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। दरअसल 11 वीं क्लास का सिलेबस बेसिक है, जिसे समझना जरूरी है। एक बार जब आप basic समझ लेते हैं, तो NEET की तैयारी करना आपके लिए आसान हो जाएगा। लेकिन अगर आपने 12 वीं में आकर NEET की तैयारी शुरू कर दी है या 12 वीं के बाद ड्रॉप कर रहे हैं, तो आपको इसकी तैयारी के लिए 11 वीं कक्षा का सिलेबस जरूर पढ़ना होगा। एक बार जब आप 11 वीं कक्षा के physics and chemistry की स concepts को समझ लेते हैं, तो नीट आपके लिए बहुत आसान हो जाएगा। आपको बता दें कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा का सिलेबस 11 वीं और 12 वीं के सिलेबस पर आधारित है,

NEET UG के उम्मीदवारों को परीक्षा में अपना बेहतर प्रदर्शन करने के लिए और पहले प्रयास में NEET को क्रैक करने की पहले से ही रणनीति तैयार कर लेनी चाहिए । इस साल NEET 2020 की परीक्षा 3 मई को आयोजित की जाये गई और आप लोगो को पहले से ही यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आप पहले प्रयास में ही NEET UG उत्तीर्ण कर लें। यदि हम पिछले कई वर्षो के परिणाम देंखे , तो शायद ही ऐसे टॉपर्स सामने आएंगे जो प्रथम-टाइमर्स नहीं हैं। इसका कारण यह है कि NEET UG पाठ्यक्रम Physics, Chemistry and Biology के कक्षा 11 और 12 के पाठ्यक्रम के समान है। NEET 2020 की तैयारी कैसे करें इसके लिए पूरा आर्टिकल पढ़े.

पहले प्रयास में NEET 2020 को कैसे क्रैक किया जाए, यह hard work के साथ साथ स्मार्ट वर्क की आवश्यकता है क्योंकि लगभग 15 लाख छात्र परीक्षा में शामिल होंगे जो बहुत ही कम सीटों के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं। पहली कोशिश में NEET को कैसे क्रैक किया जाए,। आइये हम आप को बताते है।

  • NEET में पूछे गए प्रश्न -NCERT 11 वीं और 12 वीं के biology, physics and chemistry के पाठ्यक्रम पर आधारित हैं। 720 अंकों की इस परीक्षा में 4-4 अंकों के 180 प्रश्न होते हैं, जिसमें से 90 प्रश्न केवल बायोलॉजी के होते हैं। शेष प्रश्न समान physics and chemistry से पूछे जाते है
  • CERT में मजबूत पकड़ – प्रवेश परीक्षा में बेहतर रैंक के लिए,CERT Biology Syllabus पर एक मजबूत पकड़ हों चाहिए , इसलिए प्रत्येक अध्याय के प्रत्येक शब्द को कई बार गंभीरता से पढ़ें। यदि आप पिछले कुछ वर्षों में ‘NEET ‘ के प्रश्नों को देखते हैं, तो आप पाएंगे कि NCERT के अध्याय के उन हिस्सों से भी कई प्रश्न पूछे गए थे उन पर जयदा ध्यान दे.
  • चैप्टर को अनदेखा करने की गलती न करें -एग्जाम में ऐसे प्रश्न होते हैं जो एक से कई चैप्टर से सम्बंधित होते है होते हैं। इसलिए एक किसी भी चैप्टर को अनदेखा करने की गलती न करें। एग्जाम में कुछ भी पूर्व निर्धारित नहीं है। किसी भी वर्ष में, किसी भी अध्याय से पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या कम या ज्यादा हो सकती है। इसलिए प्रत्येक अध्याय को समान महत्व देते हुए अध्ययन करें।
  • टाइम टेबल सेट करे – उम्मीदवारों को अपना समय इस तरह से विभाजित करना चाहिए की आप कोचिंग के साथ साथ रूम पर भी ६ से ७ घंटे दे पाए । महत्वपूर्ण विषयों को अधिक ध्यान दें और उनका गहराई से अध्ययन करें। लंबे समय तक पढ़ाई करते समय छोटे ब्रेक अवश्य लें। ये टाइम टेबल आप को को प्रत्येक दिन कवर किए गए विषयों को जानने में मदद करे गा , जो आप को पहले प्रयास में NEET को क्रैक करने के लिए बहुत ही जरुरी है।
  • पिछले साल के प्रश्नपत्रों को हल करें- पहले प्रयास में NEET UG को क्रैक करने वाले उम्मीदवारों के लिए पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना आवश्यक है। NEET question papers परीक्षा के स्तर को समझने में मदद करेंगे।
  • गलत तरीके से किए गए प्रश्नों का Analyze करें- प्रत्येक टेस्ट के बाद, गलत उत्तरों पर ध्यान दें और उनको Analyze करें
  • Diagrams Analysis- परीक्षा में diagrams पर आधारित प्रश्न भी पूछे जाते हैं। इसलिए किताब के हर diagrams को बार बार बनाने की कोशिश करें। यह diagrams को याद करने में मदद करेगा।

About the author

Just Finds

View all posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *